Blogger Blog me Advanced SEO Settings kaise kare

नमस्कार दोस्तों , आज के Article में हम blogger Blog me advanced Seo settings kaise kare सीखेंगे।

दोस्तों , Blogging की series में हमने अब तक यह पढ़ा है ब्लॉग्गिंग क्या है। आज में आपको यह सिखाऊंगा blogger seo setting in hindi 2022 में कैसे करे।

अपने अगर मेरा पिछला आर्टिकल पढ़ा है , blogging क्या है तो आपको एक basic idea हो गया होगा की Blogger Blog पर हम account कैसे बना सकते है।

दोस्तों , ब्लॉग पर अकाउंट account बनाने और आर्टिकल publish करने से आपकी पोस्ट google के search रिजल्ट्स में नहीं आती है।

आपको पहले अपने ब्लॉगर आकउंट की कुछ mandatory settings करनी होगी।

अगर आप वह mandatory settings नहीं करते है तो आपकी post गूगल के search में नहीं आती है और आपको कुछ serious errors का सामना भी करना पड़ता है।

दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से में आपको step by step एक-एक settings सिखाऊंगा।

अगर आप वह setttings करते है तो definately आपकी post की सर्च result में बहुत ज्यादा फर्क आएगा।

चलिए दोस्तों Advance ब्लॉगर settings करना सीखते है।

Blogger SEO setting in hindi 2022-

दोस्तों, Blogger Blog में Advance Seo Settings करने से पहले आपको अपने ब्लॉग के account में Login करना होगा।

लॉगिन करने के बाद आप ब्लॉग के main Page पर आ जायँगे।

यहाँ पर आपको Left hand side में बहुत सारे Options नज़र आ रहे होंगे।

इन options के last में आपको Setting का एक option नज़र आ रहा होगा।

सेटिंग्स के option पर click करे।

आपके सामने एक New Page open हो गया होगा।

दोस्तों इसी पेज में हमे अपनी सारी Advance settings करनी है।

1 ) Basic –

Title-

यह आपकी Blog website का title होता है। Ideally में यही recommended करता हूँ , जो आपकी domain का नाम है वही आपकी website का नाम होना चाहिए।

SEO के prospect से अगर website और domain का नाम same होता है तो वह जल्दी सर्च results में show होता है।

इसलिए domain buy करते समय आपको अपनी वेबसाइट का नाम ध्यान रख कर ही domain buy करना चाहिए ।

Example – मेरी website का domain नाम indo Blogging है और मेरी website का नाम भी Indo Blogging है।

Description –

मेरी नज़र में सबसे Important Factor Description ही है क्योकि यह Google को आपकी website किस Niche की है, यह बताता है।

Description करीब 150 से 200 words का लिखे।

याद रखे description में आप अपनी वेबसाइट के main keywords जरुर use करेंगे।

Keywords ही आपकी website की identity Google को समझायेंगे। इसलिए description सोच समझ के लिखना है।

अब में आपको एक Example दे कर समझाता हूँ आप description कैसे लिख सकते है।

Suppose करो में योगा के ऊपर एक वेबसाइट बनाना चाहता हूँ तो मुझे description योगा के around ही लिखना होगा।

जैसे – योगा की इस ब्लॉग वेबसाइट में आपको , Simple से ले कर Advance योगा अभ्यास सिखने को मिलेगा। में आपको योगा के लाभ के साथ साथ हानि की जानकारी भी प्रदान करूँगा।

इस प्रकार आप description लिख सकते है।

Also, Read-

Blog Language –

यह भी SEO की नज़र से बहुत जयादा जरूरी है क्योकि Blog language ही आपकी website की language को define करती है।

अगर आपका ब्लॉग हिंदी language में है तो आप language Hindi select करे।

English में है तो english लैंग्वेज select करे।

Important – ब्लॉग लैंग्वेज select करना जरूरी है क्योकि Google Bot को भी blog language से ही पता चलता है आपका content किस भाषा में है जिससे bot को आपकी post rank करने में आसानी होती है।

Google Analytics Property ID-

इस फीचर से आप Google Analytics को अपनी website से connect कर सकते है।

Google Analytics से अपनी website को जोड़ने के बहुत सारे फायदे है।

आप analytics के अंदर अपनी वेबसाइट का bounce rate check कर सकते है।

आपकी website में current में कितने users है इसकी आपको live रिपोर्ट मिल जाती है।

Month में आपकी वेबसाइट में कितने यूजर visit करते है इसका भी data आपको मिल जाता है।

आपकी वेबसाइट पर maximum traffic किस country से आ रहा है , इसका भी आपको data मिल जाता है।

आप इसमें यह भी पता कर सकते है आपकी वेबसाइट का maximum traffic source क्या है।

इसके अल्वा भी आपको बहुत सारे feature Google analytics के अंदर मिल जाते है।

Favicon –

इस Option से आप अपनी website की branding कर सकते है। favicon means जब हम किसी website को google पर open करते है।

तब हमे साइड में जो icon दीखता है , या फिर वेबसाइट open करने पर जो वेबसाइट के नाम साथ जो logo दीखता है वह favicon कहलाता है।

अगर हम favicon नहीं लगाते है तो हमे default में browser का symbol दीखता है।

अपनी website की branding करने के लिए हमे Favicon जरूर लगाना चाहिए।

New Feature –

हाल ही में ब्लॉगर सेटिंग में दो New Feature और Add किए गए है। यह Feature है Require Age Confirmation और Show Warning to Blog Reader .

आप इन Feature के माध्यम से अपने Reader को अपने Content के बारे में पहले ही बता सकते है की Content किस Age के person के लिए है।

2) Privacy-

यहाँ पर आपको visible to search engines का option दिख रहा होगा।

इसको enable कर दे। अगर हम इसको enable नहीं करते है तो हमारी website google पर show नहीं होगी।

इसलिए google पर अपनी website को show करवाने के लिए हमको इसको enable करना आवश्यक है।

3) Publishing-

Blog Address-

अगर आप Blogger का free Blogspot domain use कर रहे है तो उसका address यहाँ पर show होगा।

आप Blogspot domain kaise website में add करते है उसके बारे में मैंने Blogging क्या है की पोस्ट में समझाया हुआ है।

Custom Domain-

यहाँ पर आप TLD domain ( .com ,.in ,.net ) को add कर सकते है।

Https –

आपको Https को enable करना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योकि Https google को signal send करता है की आपकी website secure है।

Https को हम WordPress में ssl certificate के नाम से भी जानते है।

दोस्तों, अगर आप Http को Https में enable नहीं करते तो google आपकी website को not secure show करता है।

जिससे आपकी ranking और bounce rate बढ़ जाता है।

Also,Read- Instagram par story kaise dale

4) Formatting-

Time Zone –

यहाँ पर आपको अपनी respective country का time zone select करना होगा।

जैसे – में india का हूँ तो मेरा time zone Kolkata का होगा।

यहाँ पर आपको Date Header Format, Timestamp Format और Comment Timestamp Format का ऑप्शन मिलता है।

आपको यह Default रहने देने है।

5) Meta Tags –

बहुत ही जयादा Important Settings है। आपको यह बहुत ही जयादा ध्यान से करना है।

यह settings आपकी visibility google पर शो करती है।

आप अपना जो भी meta Description लिखेंगे , google उसी के आधार पर आपकी website के content को समझेगा।

इसलिए आप अपनी website की ranking के लिए सोच समझ कर meta description लिखे।

सबसे पहले आप search description के button को enable कर दे।

और फिर नीचे दिए गए search description में 150 words का अच्छा सा description लिख दे , याद रहे keywords जरूर include करना है।

6) Error and Redirects –

Custom Redirects –

दोस्तों, बहुत ही important settings है। दोस्तों पहले में आपको यह बतऊँगा हमे redirects की क्यों जरूरत होती है और यह क्यों जरूरी है।

Guys , suppose करो में एक article लिखता हूँ , परन्तु किसी कारण से मुझे article को delete करना पड़ जाता है ।

आर्टिकल डिलीट करने के बाद जब भी कोई उस article पर click करता है तो उसको 404 का error show होगा।

यह एक bad seo practice कहलाती है। अब हम इस problem का solution कैसे करे।

दोस्तों यहाँ पर custom redirects काम आता है।

हम custom redirects के माध्यम से अपनी delete post के link को किसी अन्य post से change कर सकते है।

अब अगर कोई व्यक्ति आपके डिलीट लिंक पर click करेगा तो वह आपके new लिंक वाली post पर redirect हो जायगा।

7) Crawlers and indexing-

दोस्तों, आपको यह setting करनी बहुत ज्यादा जरूरी है। यह setting आपको Indexed though blocked by robot .txt की problem से बचता है।

सबसे पहले आप enable Custom robot .txt को on कर दे।

Next step में आपको Custom robot.txt में अपनी website का sitemap add करना है। Sitemap आप किसी भी website से बना सकते है।

अब आपको अपने sitemap में क्या change करना है इसे ध्यान से देखे। आपको अपने sitemap में user-agent दिख रहा होगा।

उसके just नीचे आपको यह setting करनी है। आपको type करना है।

Disallow:/search
Disallow:/category
Disallow:/Tag

इसके बाद आप save button पर click कर दे। आपकी यह setting complete हो जायगी।

अब आपको Enable Custom robots header tag को on कर देना।

इसके बाद आपको Homepage tags पर क्लिक कर देना है। यहाँ पर आपको all और noodp को on कर देना है फिर save पर click करे।

Next आपको Archive and search page tags पर click करना है और Noindex और noodp को on करना है then Save पर click कर दे।

Last में आपको post और page tags पर click करना है ,यहाँ पर आपको all और noodp को on करना है then save पर click करे।

आपकी most important settings save हो चुकी है।

8) Manage Blog –

दोस्तों, यहLast Advance SEO settings है , यहाँ पर आप अपने blog का content किसी भी दूसरे ब्लॉग में import के दवारा ट्रांसफर कर सकते है।

यहाँ पर आप अपने content का backup भी backup button से ले सकते है।

इसी option में आपको अपने blog को delete और remove करने का option मिलता है।

9) Site Feed –

यहाँ पर आपको एक Important Option मिलता है जिसको हम Post Feed Redirect URL के नाम से जानते है।

इस option के माध्यम से हम अपने Blog की Rss Feed को यहाँ Submit कर सकते है।

10) Monetization –

यहाँ पर आपको Custom Ads.txt को Enable करने का ऑप्शन मिलता है। अगर आपको वेबसाइट Monetize है तो आपको यह on करना है।

इसके बाद आपको यहाँ पर Ads.txt का code डालकर save कर देना है।

11) Permissions –

यह आपके ब्लॉग का सबसे महत्वपूर्ण Section है। आप यहाँ से अपने ब्लॉग के Author और Moderator को ब्लॉग पर लिखने का Access दे सकते है।

परन्तु आपको इसका उपयोग सोच समझ कर करना है और Authority देते समय क्या क्या Permission देनी है उसका ध्यान देना है।

मेरा Final view on blogger Blog me advanced Seo settings kaise kare-

दोस्तों, मुझे आशा है अगर आप मेरे द्वारा बताई गयी Blogger SEO setting in hindi 2022 को करेंगे तो आपके ब्लॉग में कोई भी गूगल सर्च कंसोल का एरर नहीं आएगा।

आपका blog Google के search results में दिखने लग जायगा।

आज मेने आपको सिखाया blogger Blog me advanced Seo settings kaise kare.

Also, Read – Web series kya hai

Blog Seo Settings से जुड़े सवाल और जवाब –

Q1) blogger Blog me advanced Seo settings kaise kare से SEO Improve होता है। 

Ans – हाँ, Advanced SEO Settings करने से आपकी वेबसाइट की Ranking और Visibility Google के ऊपर Improve होती है।

Q2) What is a good SEO strategy?

Ans – SEO की सबसे best Strategy है की आप अपने ब्लॉग के Onpage और Offpage दोनों को properly Optimize करे।

आपका SEO Score Automatically Improve हो जायगा।

Q3) What is SEO for blogging?

Ans – ब्लॉग्गिंग के लिए seo का मतलब होता है Onpage करना और सोशल शेयरिंग व बैकलिंक्स बनाना। यह सभी ब्लॉग्गिंग के seo में आते है।

Q4) Blog का Seo करने से क्या लाभ होता है ?

Ans – Seo करने से आपकी ब्लॉग की विजिबिलिटी गूगल में इम्प्रूव होती है और आपका ब्लॉग गूगल में रैंक करने लगता है।

Leave a Comment